Tajawal

Monday, 7 March 2016

यहां होती है बोल्ड और ब्यूटीफुल महिला पुलिस...

यहां होती है बोल्ड और ब्यूटीफुल महिला पुलिस.........

दुनिया में हर स्थान पर सुरक्षा के लिए पुलिस की भर्ती होती है, लेकिन मेक्सिको के अकापुल्को नामक स्थान पर यातायात महिला पुलिसकर्मियों के लिए जरूरी है कि वे सुंदर, बहादुर और पूरी तरह से फिट होना जरूरी है। मेक्सिको की अकापुल्को टूरिस्ट असिस्टेंस ब्रिगेड में भर्ती होने के लिए आपका महिला, सुंदर और युवा होना जरूरी है।   
 
एक समय पर यह जगह मशहूर टूरिस्ट स्पॉट होने की वजह से पसंद की जाती थी। स्थानीय लोगों की 80 फीसदी आय पर्यटन से आती है, इसलिए सरकार ने पर्यटकों की सुविधा के लिए इस बल का गठन किया है, लेकिन अब इस जगह पर ड्रग्स की तस्करी और अपराधों की दुनिया हावी हो गई, इसके कारण पर्यटकों और स्थानीय लोगों में तस्करों और अपराधियों का डर बैठ गया था। लेकिन डर की वजह से लोगों ने यहां आना कम कर दिया तो यहां की म्युनिसिपल पुलिस ने भीड़-भाड़ बढ़ाने के ‌लिए अनोखा उपाय निकाला। 
 
उन्होंने यहां अकापुलको टूरिस्ट असिस्टेंस ब्रिगेड बनाने की बात सोची। इस ब्रिगेड में केवल और केवल महिलाएं ही होंगी। वह भी ऐसी महिलाएं जो सुंदर हों और हों। इनका काम होगा इस पूरे इलाके में ट्रैफिक की देख-रेख करना, पैट्रोलिंग करना और अगर बीच एरिया के आसपास लोग जुर्म करते हुए दिखें तो उन्हें पकड़ना। सुंदर के यहां बढ़ने से टूरिस्टों की संख्या में इजाफा आया है। 
 
पुलिस ने यह भी कहा है कि कई बार सुंदर महिला पुलिस द्वारा पकड़े जाने पर पुरुष जल्दी ही हथियार डाल देते हैं। इस ब्रिगेड में 18 से लेकर 28 साल तक की औरतों को रखा गया है। उन्हें बोल्ड और सुंदर होना जरूरी है। वजन कोई पैमाना नहीं रखा गया है। वजन चाहे जितना हो, पर  अगर महिला ठीक से अपना काम कर पा रही है, तो ऐसी स्त्रियों को ब्रिगेड में वरीयता दी जाएगी।
 
इस ब्रिगेड की महिलाओं को अपने पूरे लुक पर गौर करना पड़ता है। उनके नाखून मैनिक्यूर्ड होना चाहिए। उन्हें आकर्षक होना ही पड़ता है। इन महिलाओं को सेना के लोगों के साथ तीन माह का गहन प्रशि‍क्षण दिया जाता है और जो काम पुलिसकर्मी डंडे के बल पर करवाते हैं, उन्हें ये महिलाएं हल्की सी मुस्कान और आंख मारकर करवा लेती हैं।  
 
Post a Comment

पकौड़े बेचो !! होगा यह मुल्क पर एहसान पकौड़े बेचो ! कहते है आज के सुल्तान पकौड़े बेचो ! डिग्रिया सर पर लिए बोझ बने हो सब पर! खोलो फुटपाथ...